300 किलो वजनी क्षमता वाला ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण

0
314
BrahMos-supersonic-cruise-missile

भारत ने 11 मार्च को सफलतापूर्वक ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का परीक्षण किया है। ओडिशा तट पर एक परीक्षण सीमा से 300 किलो वजनी हथियार चलाने की क्षमता वाला ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया। इस मिसाइल को ब्रह्मोस एयरोस्पेस में भारत और रूस के संयुक्त उद्यम द्वारा डिजाइन और विकसित किया गया है। यह परीक्षण मिसाइल की क्षमता का सत्यापित करने के लिए किया गया था।

डिफेंस रेसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) के अधिकारियों ने बताया कि ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल को करीब 11.33 पर चांदीपुर स्थित इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज (आईटीआर) से एक मोबाइल लांचर से परीक्षण किया गया। इस परियोजना से जुड़े एक वरिष्ठ डीआरडीओ वैज्ञानिक ने कहा, “यह एक उत्कृष्ट प्रक्षेपण और एक बड़ी सफलता है।”

इस मिसाइल की क्षमता 300 किलोग्राम पारंपरिक और परमाणु हथियारों को ले जाने की है। ब्रह्मोस एक दो चरण की मिसाइल है, जो सबसे पहले ठोस प्रणोदक है और दूसरा एक रैमजेट द्रव प्रणोदक है। इस मिसाइल का प्रक्षेपण समुद्र, भूमि, उप समुद्र और हवा से किया जा सकता है।

इस मिसाइल प्रणाली का एयर लॉन्च और पनडुब्बी लांच संस्करण प्रगति पर है। ब्रह्मोस का नाम दो नदियों के नाम से है जो भारत में ब्रह्मपुत्र और रूस के मोस्कावा हैं।

ब्रह्मोस एयरोस्पेस के एमडी और सीईओ सुधीर मिश्रा ने द फाइनेंशियल एक्सप्रेस से कहा, ” ब्रह्मोस दुनिया के लिए सबसे पहला उच्च श्रेणी के साथ एक सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल है”। भारतीय नौसेना और भारतीय थल सेना में ब्रह्मोस मिसाइल का समावेश क्रमशः 2005 और 2007 में शुरू हुआ था।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here